Blogs

प्रीनुप्टियल समझौता

प्रीनुप्टियल समझौता

प्रीनुप्टियल समझौता (इकरारनामा) एक आधिकारिक दस्‍तावेज है, जिसमें दो व्‍यक्तियों द्वारा शादी करने से पहले हस्‍ताक्षर किए जाते हैं। प्रीनुप्टियल समझौते (इकरारनामे) का प्र... Read More

Post By एडवोकेट किशन

महामारी के दौरान किराए में बदलाव

महामारी के दौरान किराए में बदलाव

कोरोनावायरस महामारी ने लंबे समय में देश को सबसे अधिक परेशान करने वाले ठहराव के लिए प्रेरित किया है, और अधिकांश सरकारें और कंपनियां अभी भी वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला के अचान... Read More

Post By विशाल

विशेष विवाह अधिनियम 1954, के तहत शादी

विशेष विवाह अधिनियम 1954, के तहत शादी

विवाह भारत में सबसे पवित्र और सर्वव्यापी सामाजिक संस्थाओं में से एक है। यह एक व्यक्ति के जीवन में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर के रूप में कार्य करता है जो वंश को वैध करता है और... Read More

Post By संकुल नागपाल

भारत में साइबर अपराध

भारत में साइबर अपराध

तकनीकी प्रगति ने हाल के दिनों में बहुत प्रभाव डाला है और इसने मनुष्य को उसकी अधिकांश जरूरतों के लिए इंटरनेट पर निर्भर बना दिया है। चाहे वह किसी रेस्तरां में भुगतान के बारे ... Read More

Post By विशाल

तलाक के विभिन्न आधार क्या हैं?

तलाक के विभिन्न आधार क्या हैं?

भारत में, विवाह को एक पवित्र प्रतिबद्धता माना जाता है और पूरी तरह से हमारे पारंपरिक संस्कारों और रीति-रिवाजों द्वारा शासित होता है और इसलिए इसके परिणामस्वरूप तलाक होता है, ... Read More

Post By adv प्रेमा के

भारत में आपसी सहमति से तलाक

भारत में आपसी सहमति से तलाक

आपसी सहमति से तलाक में, दोनों पक्षों को आपसी मतभेदों के कारण तलाक को पारस्परिक रूप से लेने और अपनी शादी को भंग करने के लिए सहमत किया जाता है। इस लेख में, हमने हिंदू विवाह अधिन... Read More

Post By adv प्रेमा के

हिंदू विवाह अधिनियम, 1955 के तहत धारा 9 के बारे में पूरी जानकारी

हिंदू विवाह अधिनियम, 1955 के तहत धारा 9 के बारे में पूरी जानकारी

यह लेख आपको हिंदू विवाह अधिनियम, 1955 की धारा 9 और उस धारा के तहत कानूनी नोटिस दायर करने के बारे में शिक्षित करेगा। विवाह को पवित्र बंधन माना जाता है और विवाह का समापन उस पवित्र ... Read More

Post By adv प्रेमा के

कानूनी उत्तराधिकार और उत्तराधिकार प्रमाणपत्र के बीच अंतर

कानूनी उत्तराधिकार और उत्तराधिकार प्रमाणपत्र के बीच अंतर

जबकि कानूनी उत्तराधिकार प्रमाणपत्र और उत्तराधिकार प्रमाणपत्र दोनों व्यक्ति के संबंध को मृतक के कानूनी उत्तराधिकारी के रूप में पहचानने और प्रमाणित करने के संबंध में खरी... Read More

Post By सिमरन सेठी

जीएसटी पंजीकरण के तहत मुख्य (Core) और गैर-मुख्य (Non-Core) क्षेत्रों में संशोधन

जीएसटी पंजीकरण के तहत मुख्य (Core) और गैर-मुख्य (Non-Core) क्षेत्रों में संशोधन

जीएसटी पंजीकरण को याद रखने के लिए महत्वपूर्ण बातेंजीएसटी पंजीकरण क्या है?धारा 22 के अनुसार, प्रत्येक प्रदाता जो कृपापूर्वक उपलब्ध करवाता है अर्थात लचीले रूप से व्यापारिक ... Read More

Post By Jonica E

भारत में संपत्ति विभाजन कानून

भारत में संपत्ति विभाजन कानून

विभाजन एक शब्द है जिसका उपयोग कानून में, अदालत के आदेश द्वारा या अन्यथा, समवर्ती संपत्ति को अलग-अलग हिस्सों में विभाजित करने के लिए किया जाता है, जो संपत्ति के मालिकों के आनु... Read More

Post By सिमरन सेठी

किरायेदारों के लिए कानूनी अधिकारों पर पूरा मार्गदर्शन

किरायेदारों के लिए कानूनी अधिकारों पर पूरा मार्गदर्शन

भारत में किरायेदारों के कानूनी अधिकारों को जानने के अनुसरण में, सबसे पहले भारतीय कानून के तहत किरायेदारी को कैसे संचालित किया जाता है, इसके बारे में संक्षेप में जानकारी हो... Read More

Post By सिमरन सेठी

महामारी के दौरान कर्मचारियों की ओर नियोक्ता की जिम्मेदारियां

महामारी के दौरान कर्मचारियों की ओर नियोक्ता की जिम्मेदारियां

दुनिया भर में निजी क्षेत्र या सार्वजनिक क्षेत्र में कई बढ़ती कंपनियां हैं जिनकी न केवल अपनी कंपनी के विकास और विकास की प्रत्येक असरदार जिम्मेदारियां, बल्कि यह भी उनका कर्... Read More

Post By खुस्बू अग्रवाल

कर्मचारियों के कानूनी अधिकार

कर्मचारियों के कानूनी अधिकार

"कर्मचारी संघ की आत्मा हैं" कानूनी संस्थाएं पूरे संगठन में हम अपने कर्मचारियों के बिना एक सेकंड के लिए भी जीवित नहीं रह सकते हैं, इसलिए यह कर्मचारी के कानूनी अधिकारों की रक्... Read More

Post By कुमकुम शर्मा

संपत्ति अधिकारों पर पूर्ण मार्गदर्शन

संपत्ति अधिकारों पर पूर्ण मार्गदर्शन

सरल भाषा में, 'स्वामित्व' और 'कब्ज़ा'  शब्द पर अक्सर लोग भ्रमित हो जाते हैं। लोग आमतौर पर सोचते हैं कि इन दोनों शब्दों का अर्थ समान है जबकि वास्तव में दोनों के बीच एक बड़ा अंतर ... Read More

Post By वसुधा चड्ढा

रेरा का महत्व क्या है

रेरा का महत्व क्या है

आवास मनुष्य की मूलभूत आवश्यकताओं में से एक है। सुरक्षा, शिक्षा, भोजन और सामाजिक सुरक्षा जैसे अन्य बुनियादी मानवाधिकारों के बीच, यह भी आवश्यक है कि एक सुरक्षित और पर्याप्त आ... Read More

Post By एड. उदय बेदी

श्रम कानूनों का निलंबन

श्रम कानूनों का निलंबन

"हमें वायरस के साथ रहना सीखना होगा" ये केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव  लव अग्रवाल  ने अपने एक प्रेस मुलाकात के दौरान बोले गए शब्द थे। आज पूरी दुनिया 'नॉवेल कोरो... Read More

Post By विशाल

ड्राफ्ट प्रतियोगिता संशोधन विधेयक, 2020

ड्राफ्ट प्रतियोगिता संशोधन विधेयक, 2020

बाजार का उद्देश्य ग्राहकों को वस्तुओं और सेवाओं को खरीदने के लिए आकर्षित करना है। पूरे बाजार में विभिन्न विक्रेता संभावित खरीदारों को उनसे खरीदने के लिए प्रोत्साहित करक... Read More

Post By विशाल

भारत में विभिन्न यौन उत्पीड़न कानून क्या हैं?

भारत में विभिन्न यौन उत्पीड़न कानून क्या हैं?

पूरे इतिहास में महिलाओं को नियंत्रित किया गया है, उनके साथ भेदभाव किया गया है और व्यवस्थित रूप से उत्पीड़ित किया गया है। 1800 के दशक में महिलाओं के मतदान आंदोलन से लेकर आधुनिक... Read More

Post By विशाल

सूक्ष्म और लघु व्यवसाय के लिए प्रदर्शन और क्रेडिट रेटिंग योजना

सूक्ष्म और लघु व्यवसाय के लिए प्रदर्शन और क्रेडिट रेटिंग योजना

क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों और अन्य समूहों के साथ सहमति में NSIC ने सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए प्रदर्शन और क्रेडिट रेटिंग योजना के संबंध में एक योजना बनाने की मांग की थी। विश... Read More

Post By विशाल

भारत में निर्यात लाइसेंस

भारत में निर्यात लाइसेंस

निर्यात और आयात राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं को विकसित करने में मदद करता है और वैश्विक बाजार का विस्तार करता है। प्रत्येक देश संसाधनों और कौशलों में निश्चित लाभ से संपन्न है... Read More

Post By स्पर्श गोयल

Load More Blogs

About Lawtendo

Lawtendo is an intuitive online platform that makes it speedier and simpler to discover and contact the finest Attorneys in any city/court in India.

Most Recent

Follow US

Categories

Our Services

LAWYER SERVICE FOR PROPERTY POSSESSION DELAY

It is seen that real estate developers and builders delay the delivery of projects by months to years at a stretch. This results in monetary loss and mental harassment for buyers.

View More

LEGAL SERVICES FOR RECOVERY OF MONEY

Partnership firms, proprietorship firms, companies, traders, individuals and others can file a suit for recovery of their unpaid bills, business dues or payments where there is any form of written contract/agreement formed between the parties.

View More

Legal Consultation for Marriage Registration From Expert Lawyers in India

If you are married, might as well get it official! A marriage certificate is an official declaration of marriage. Earlier, it was not mandatory to register your marriage in India but since 2006, Hon’ble Supreme Court made it mandatory for the spouses to register their marriage.

View More